एकेएस के एम.ए. योग के छात्र छात्राओं ने पूर्ण किया एक माह का योग का आवासीय कर्मभ्यास प्रशिक्षण।

0



सतना। एकेएस के एम.ए.योग के छात्र छात्राओं ने एक माह का योग का आवासीय कर्मभ्यास प्रशिक्षण पूर्ण किया। धन्वन्तरि पीठ आयुष ग्राम गुरुकुलम् में ए.के.एस. यूनिवर्सिटी, सतना एम.ए. योग के छात्र/छात्राओं ने एक माह का योग का आवासीय कर्मभ्यास प्रशिक्षण २५.०६.२०२३ को पूरा किया।।कार्यक्रम में मुख्य अतिथि डॉ. रविकान्त पाठक, प्रोफेसर स्वीडन,आईआईटी,संस्थापक भारत उदय गुरुकुलम् गौशाला एवं जैविक कृषि प्रकल्प हमीरपुर उ.प्र. रहे। डॉ. पाठक ने विदाई के समय अपने उद्बोधन में कहा कि मैंने सारे विश्व को घूमने के बाद यह पाया कि भारत भूमि जैसी कोई दूसरी भूमि नहीं, इस धरा में विश्व गुरु बनने और बनाने की क्षमता/योग और आयुर्वेद इस भूमि ऋषिप्रदत्त ज्ञान है उन्होंने कहा कि भारत पुन:विश्व गुरु बने इसकी एक पहल है,उन्होंने कहा कि आयुष ग्राम ट्रस्ट भारतीय चिकित्सा विज्ञान,सनातन संस्कृति को आयुष ग्राम गुरुकुलम्,आयुष ग्राम गोसेवालय प्रकल्पों द्वारा जीवित रखने का कार्य कर रहे हैं।आयुष ग्राम के संस्थापक आचार्य डॉ. मदनगोपाल वाजपेयी ने कहा कि कुंती ने भगवान् कृष्ण से पग-पग में दु:ख की माँग की थी ताकि उनका भगवान् से जुड़ाव बना रहेगा, भगवान् से जुड़ने का नाम ही तो योग है। ए.के.एस. यूनिवर्सिटी के एम.ए. योग के छात्र छात्राओं कालिन्दी,लवली सिंह, प्रियंका सिंह,सुशील कुमार कुशवाहा, कन्हैया सिंह, रानी साहू, आरती पटले, सुष्मिता आदि को एक माह का एम.ए. योग के प्रशिक्षण पूरा करने के बाद प्रमाण पत्र देकर उनको सम्मानित किया और इसके बाद आयुष ग्राम गुरुकुलम् के प्रधानाचर्य ने उनका आभार व्यक्त करते हुए कार्यक्रम का समापन किया। कार्यक्रम में डॉ.वेदप्रताप वाजपेयी,बाल्मीकि द्विवेदी, आलोक कुमार, गुरुकुल के प्रधानाचार्य गिरीशचन्द्र बहुगुणा, उप प्रधानाचार्या सीमा, व आयुष ग्राम ट्रस्ट परिसर के समस्त आयुर्वेद नर्सिंग व फार्मेसी स्टॉफ एवं गुरुकुलम् के छात्र मौजूद रहे।

यह भी पढ़ें:   रिसर्च जर्नल ऑफ़ फार्मेसी एंड टेक्नोलॉजी में स्टूडेंट का रिसर्च पेपर प्रकाशित।एम.फार्मेसी फाउंडर बैच के छात्र का कार्य सराहनीय, डॉ.सूर्य प्रकाश गुप्ता।

Leave A Reply

Your email address will not be published.