जयसिंहनगर आनंद उत्सव के कार्यक्रम में सारे पार्षद अध्यक्ष के पति और बेटे के कारण रहे नदारद

0

जयसिंहनगर आनंद उत्सव के कार्यक्रम में सारे पार्षद अध्यक्ष के पति और बेटे के कारण रहे नदारद

भोपाल-म प्र शासन विभाग द्वारा आनंद उत्सव का कार्यक्रम करने के लिए निर्देश दिए गए थे जो की स्कूल के बच्चो के लिए खेलकूद और मनोरंजक प्रतियोगिता किया गया था लेकिन अध्यक्ष सुशीला शुक्ला के पति बाबू शुक्ला के गलत व्यवहार के कारण जयसिंहनगर के सभी पार्षद सी एम राइज स्कूल के मैदान में उपस्थित नही थे और नगर परिषद के सभी कार्यक्रम का विरोध करना चालू कर दिया है इसका कारण ये है कि अध्यक्ष पति के गलत नीति के कारण सभी पार्षद खुश नहीं है, इसलिए ये देखा गया की कार्यक्रम के दौरान नगरवासी भी नही दिखे।

नगर वासियों ने क्या कहा –

जब नगरवासियों से ये पूछा गया की इस तरह का व्यवहार सभी पार्षद क्यों कर रहे हैं क्यों कार्यक्रम को बहिस्कार कर रहे हैं, तो उनका कहना था कि सभी पार्षद को दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है किसी का कुछ भी काम नही कराया जाता हम नगरवासी भी वहा काम से जाते हैं तो यहां से वहां भटकाया जाता है सीएमओ तो कभी मिलती ही नही है 12-1 बजे तो वो अपने घर शहडोल से जयसिंहनगर आती हैं, अब यहां क्या काम होगा ना तो सीएमओ टाइम से रहती हैं ना कभी अध्यक्ष रहती हैं, इंजीनियर तो दारू पी के यह वहा भटकते रहते हैं या तो सोते रहेंगे, अध्यक्ष के पति बाबू शुक्ला और उनका बेटा आदेश शुक्ला नगर परिषद संभालते हैं और अपनी मनमानी करते हैं। इसी वजह सभी पार्षद विरोध कर रहे हैं और हम नगरवासी भी वो सभी पर्षदो को हमारा पूर्ण सहयोग हैं।

यह भी पढ़ें:   जातिन श्रॉफ देंगे ड्रीम अचीवर अवार्ड में अपने गायकी की शानदार प्रस्तुति

पार्षदों ने क्या कहा-

पार्षदों द्वारा जब पूछा गया की कार्यक्रम में आप लोग उपस्थित क्यों नहीं थे तो उनके द्वारा कहा गया कि जन कल्याणकारी और हित ग्राही मूलक कार्य नगर परिषद सीएमओ और अध्यक्ष नही करते ना करने देते परिषद मेंबर द्वारा जितने काम पास किए गए थे वो कोई काम आज दिनांक तक नही किया गया सभी काम को सीएमओ और अध्यक्ष के पति द्वारा रोक कर रखा गया है जिस वजह से जनता हमको जीत दिला कर पार्षद बनाई है अगर हम वो जन कल्याणकारी काम नही करेंगे तो क्या मतलब फिर हमारा क्या मुंह दिखाए हम जनता को। इस वजह से हम सभी पार्षद पूर्ण विरोध करते हैं इनका।

Leave A Reply

Your email address will not be published.