एशिया की सबसे बड़ी रक्षा प्रदर्शनी यानि डिफेंस एक्सपो इस साल होगा गुजरात के गांधीनगर में :

0

डिफेंस एक्सपो इससे पहले मार्च माह में होना था, लेकिन रूस -यूक्रेन युद्ध की वजह से इसे स्थगित कर दिया गया था।

अब डिफेंस एक्सपो 18 से 22 अक्टूबर के बीच गांधीनगर में आयोजित होगा। इससे पहले यह 10-14 मार्च को गांधीनगर में होना था। लेकिन 4 मार्च को रक्षा मंत्रालय ने इस एक्सपो को स्थगित कर दिया था। लेकिन सोमवार को मंत्रालय की ओर से इस पांच दिन के कार्यक्रम का ऐलान कर दिया गया। तीन दिन एक्सपो बिजनेस के लिए होगा, जबकि 2 दिन यह एक्सपो आम लोगों के लिए खुला रहेगा।

इस डिफेंस एक्सपो में 1000 से अधिक डिफेंस की कंपनियों हिस्सा लेने वाली थी। इन कंपनियों ने इसमे हिस्सा लेने के लिए रजिस्ट्रेशन कराया था, लेकिन । लेकिन रूस-यूक्रेन युद्ध के चलते कई कंपनियों ने इसमे हिस्सा लेने से इनकार कर दिया था। जिसके चलते रक्षा मंत्रालय ने इस एक्सपो को टाल दिया था। गांधीनगर में अक्टूबर माह में होने वाला एक्सपो एक लाख वर्ग मीटर से बड़े क्षेत्रफल वाले इलाके में आयोजित किया जाएगा। इस एक्सपो में कई कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे, जिसमे वेबिनार, सेमिनार, रक्षा क्षेत्र में आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस सहित कई कार्यक्रम आयोजित होंगे। इस बार एक्सपो का लक्ष्य 2025 तक 5 बिलियन डॉलर का निर्यात हासिल करना है। खुद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस विजन को आगे बढ़ाया है।

जिस तरह से भारतीय कंपनियां रक्षा क्षेत्र में तेजी से आगे बढ़ रही हैं उसके देखते हुए यह डिफेंस एक्सपो काफी खास है। इस एक्सपो से देश में निवेश के बढ़ने की उम्मीद है। गौर करने वाली बात है कि भारत दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा हथियारों का आयातक देश है। पिछले कुछ सालों की बात करें तो हथियारों के उत्पादन पर भारत का काफी जोर रहा है। भारत डिफेंस एक्सपो के जरिए डिफेंस हब बनने की ओर कदम बढ़ा रहा है। डिफेंस एक्सपो का इस साल 12वां संस्करण है। पिछला डिफेंस एक्सपो लखनऊ में हुआ था। लखनऊ में 170 कंपनियों ने हिस्सा लिया था, तकरीबन 40 देशों के रक्षा मंत्री, सेना प्रमुख और अन्य गणमान्यों ने इसमे हिस्सा लिया था।

यह भी पढ़ें:   पिछले कुछ समय से एक बार फिर से बढ़ती जा रही एलएसी पर चीनी हिमाकत, देश की सैन्य क्षमता को दिया जा रहा बढ़ावा :

Leave A Reply

Your email address will not be published.