आसिफ जमाल ने पब्लिक एप के अभिषेक अग्रहरी पे गलत खबर प्रकाशित करने के लिए माननीय न्यायालय में मानहानि का मुकदमा किया दाखिल

0


वही मानहानि जिसमे राहुल गांधी को मोदी सरनेम पर टिप्पणी को लेकर मिली है सजा


1_आसिफ ने बताया कि प्रार्थी का व्यवसाय प्रभावित हुआ है तथा उनकी आर्थिक क्षति हो रही है, कई लोग आर्डर बुक कराने के बाद उनके दुकान से सामान लेने से मना कर दियें, एवं प्रार्थी को अपमान का सामना करना
पड़ रहा है जिससे प्रार्थी की मान प्रतिष्ठा गिर रही है ।
2_आसिफ जमाल ने दावा दाखिल में न्यायालय से ये भी गुहार लगाई की यह कि प्रार्थी परिवार का तनहा सदस्य है, उक्त तथाकथित पत्रकार द्वारा जान माल की धमकी भी दिया जा रहा है यदि भविष्य में प्रार्थी व प्रार्थी के परिवार के सदस्य एवं प्रार्थी के फर्म के प्रति कोई भी अहित होती है तो उसकी जिम्मेदारी तथाकथित पत्रकार अभिषेक अग्रहरी की ही मानी जाये।
3_आपको बता दे की अब्राहम लिंकन ने भी उद्धृत किया है कि सच्चाई को बदनामी के खिलाफ सबसे अच्छा उपाय माना जाता है। फिर भी, सत्य में उस प्रतिष्ठा को बहाल करने की क्षमता नहीं होती है जो व्यक्ति समाज की नज़रों में खो देता है. यह निराशाजनक वास्तविकता है कि खोया हुआ धन हमेशा वापस अर्जित किया जा सकता है; लेकिन किसी की प्रतिष्ठा पर एक बार जो दाग लग जाता है, वह नुकसान के अलावा कुछ नहीं देता.

यह भी पढ़ें:   के एम अकादमी में बड़ी धूमधाम से मनाया गया सरदार बल्लभ भाई पटेल जी का 148 जन्मदिन

Leave A Reply

Your email address will not be published.