आजीवन कारावास की सजा काट रहे बंदी की मौत रेफर के बाद 2 घंटे तक अस्पताल में रोके रखने पर परिजनों ने किया हंगामा

0




महराजगंज जिला अस्पताल में मेडिकल कॉलेज रेफर करने के बाद करीब 2 घंटेजेल की प्रक्रिया पूरी करने के बीच आजीवन कारावास की सजा काट रहे बंदी की अस्पताल परिसर में ही मौत हो गई इसलिए परिजनों ने हंगामा शुरू कर दिया जेलर के खिलाफ कार्रवाई की मांग करते हुए 100 का पोस्टमार्टम करने से रोक दिया एडिशनल एसपी आशीष कुमार सिंह मौके पर पहुंचे परिजनों को समझा बूझकर शांत करायाजांच का आश्वासन दिया उसके बाद परिजनों ने शव












को पोस्टमार्टम करने के लिए पुलिस कर्मियों को सौप चौक क्षेत्र के खजुरिया गांव निवासी रामस्तान के खिलाफ कोतवाली में 17 में1999 को तत्कालीन काग निरीक्षक में मिलावटी दूध के आरोप अभियोग पंजीकृत कराया था इस मामले में पिछले 7 साल 9 अप्रैल को अपर सत्र न्यायाधीश की अदालत में पत्रावली में दर्द साथ हुआ गवाहों को खिलाफ राम सजीवन को आजीवन कारावास की सजा सुनाई गई थी। जिला कारागारशेर रेफरल की कार्रवाई पूरी होने में काफी वक्त गुजर गया जेल से एंबुलेंस आने के पहले जिला अस्पताल की परिसर में दूसरी शब्द बंदी रामसर्जन की मौत हो गई परिजनों में जेल प्रशासन पर आरोप लगाया कि राम सजन की मौत लापरवाही से हुई इस मामले में जेल अधीक्षक प्रभात सिंह का गाना है कि दोष सिद्ध बंदी राम सजन अस्थमा और शुगर रोग से पीड़ित था जिला कारागार के अस्पताल में पिछले 10 दिन से उसे भर्ती किया गया थाशनिवार की सुबह तबीयत अधिक बिगड़ने के बाद उसे जिला अस्पताल में इलाज के लिए भर्ती कराया गया जिला अस्पताल के डॉक्टरों ने बंदी को मेडिकल कॉलेज रेफर किया था गाड़ी पहुंचने के पहले ही उसकी मृत्यु हो गई


उद्घोष समय लाइव न्यूज़ टीवी चैनल से उत्तर प्रदेश हेड ए के मिश्रा की खास रिपोर्ट।

राजनीति हो या भ्रष्टाचार या क्राइम पल-पल की खबर सबसे पहले आपके पास


हम खबर वही दिखाते हैं जो भ्रष्टाचारी छुपाते हैं

????️ए के मिश्रा की क़लम से????️

यह भी पढ़ें:   महाराजगंज आवासीय कार्यालय वित्त मंत्री पंकज चौधरी क्षेत्र में समस्याओं का समाधान

Leave A Reply

Your email address will not be published.