खबर का असर सचिव शमशेर खान द्वारा जारी फर्जी पट्टा मामले में जिला पंचायत सी.ई.ओ ने दिये जाँच के आदेश

0


मामला जनपद पंचायत केवलारी के अंतर्गत आने वाली ग्राम पंचायत खैरा पलारी का लगातार अन्य अखबारों में प्रकाशित सचिव समशेर खान द्वारा रिश्वत लेकर सूदखोर राजनारायण ठाकुर निवासी ग्राम पंचायत मैरा ग्राम नवीन पलारी को अपने निजी स्वार्थ के लिए अपने सचिव पद का दुरपयोग कर शासन-प्रशासन के नियमो की धजिया उड़ाते हुए ,युवक सतीश नामदेव के अवासीय भूमि को अपने पंचायत रिकॉर्ड में विक्रय चङा अपने हितेशी राजनारायण ठाकुर के नाम से पट्टा जारी कर दिया,युवक सतीश नामदेव के द्वारा बार-बार जिला कलेक्टर महोदय सिवनी एवं जिला पंचायत सी.ई.ओ.महोदय सिवनी से फर्जी पट्टा मामले को लेकर शिकायत आवेदन प्रस्तुत किया जा रहा था, जिस पर युवक सतीश नामदेव द्वारा पुन: दिनाँक 01-08-2023 को जिला कलेक्टर महोदय सिवनी को लिखित शिकायत देते हुए सचिव शमशेर खान एवं राजनारायण ठाकुर के द्वारा अपने साथ किये गए फर्जीवाडा एवं युवक की गोदाम पर अपना कब्ज़ा कर युवक को जान से मारने एवं गाली गलोच कर युवक को मानसिक प्रताड़ित करने का कृत्य सम्बंधित दोषियों के द्वारा किया गया ,जिससे हताश निराश होकर युवक ने बार-बार जिला कलेक्टर महोदय माननीय श्री क्षितिज सिंघल के समक्ष अपने साथ हुए फर्जीवाडा और जालसाजी को लेकर न्याय हेतु गुहार लगाई, जिस पर जिला कलेक्टर महोदय द्वारा मामले को गंभीरता से लेते हुए तत्काल राजस्व अनुविभागीय दंडाधिकारी केवलारी एवं जिला पंचायत सिवनी के मुख्य कार्यपालन अधिकारी को जाँच के आदेश पारित कर दोषियों के खिलाफ दंडात्मक कार्यवाही करने के भी आदेश जारी किये गए, जिला कलेक्टर महोदय सिवनी के आदेश पर जिला पंचायत सिवनी के मुख्य कार्यपालन अधिकारी ने सम्बंधित प्रकरण में टीम गठित कर सम्बंधित जनपद पंचायत केवलारी के सक्षम अधिकारी के द्वारा जाँच करने के आदेश पारित कर तत्काल जाँच कर प्रतिवेदन जिला पंचायत सिवनी में प्रस्तुत कर दोषियों के खिलाफ जाँच कर दंडात्मक कार्यवाही करने के आदेश पारित किये है |

सचिव समशेर खान खुदको बचाने के लिए पूर्व सरपंच रणजीत सिंह ठाकुर पर लगा रहा आरोप

युवक सतीश नामदेव के अवासीय पट्टा को वर्ष 2019 में सचिव समशेर खान ने अपने चहेते सूदखोर राजनारायण ठाकुर को को निजी स्वार्थ के चलते नियम विरुद्ध पट्टा जारी तो कर दिया पर माननीय मुख्य कार्यपालन अधिकारी महोदय सिवनी के जाँच के आदेश मिलते ही मामले से जुड़े सभी लोगो की नीद हराम हो चुकी है,जनपद पंचायत केवलारी के कार्यक्षेत्र से जुडी सभी ग्राम पंचायतो में डर का माहोल व्यापत है,क्योकि ग्राम पंचायत खैरा के सचिव समशेर खान पर कभी कोई अधिकारी जाँच के आदेश करने ही हिम्मत भी कर सकता है ,ऐसा सपने में भी नहीं सोचा जा सकता परन्तु यह कार्यवाही जिला पंचायत में पदस्थ नवीन सी.ई.ओ महोदय ने कर डाली जिससे सचिव समशेर खान बोखला गया है,पहले तो युवक पर शिकायत वापस लेने और बिभिन्न झूठे प्रकरणों में फ़साने की धमकी सचिव शमशेर खान और राजनारायण ठाकुर द्वारा युवक सतीश नामदेव को दी गई,परन्तु युवक सतीश नामदेव ने अपनी न्याय की आश जिला कलेक्टर महोदय सिवनी और जिला पंचायत सिवनी सी.ई.ओ महोदय से लगाई रखी ,मामले के जाँच आदेश मिलते ही दोषी किसी तरह राजनैतिक और तानाशाही गतिविधियों से लिप्त व्यक्तियों की शरण में जाकर अपने आपको बचाने का प्रयास कर रहे है,सचिव शमशेर खान ने पूर्व सरपंच रणजीतसिंह ठाकुर के फर्जी हस्ताक्षर और सील का प्रयोग कर राजनरायण ठाकुर को एक नहीं बल्कि दो बार पट्टा जारी किया मामले की पोल खुलते ही सचिव ने पलटवार करते हुए पूरा पट्टा फर्जीवाडा पूर्व सरपंच एवं वर्तमान जनपद पंचायत अध्यक्ष रणजीतसिंह ठाकुर के उपर थोप दिया की वर्ष 2019 में कार्य एजेंसी पूर्व सरपंच एवं वर्तमान जनपद पंचायत अध्यक्ष रणजीतसिंह ठाकुर थे, फर्जी पट्टा मामला केवल युवक सतीश नामदेव का अकेला नहीं है, ऐसे और भी नियमविरुद्ध पट्टा जारी कर अपने हितेषियो को दिये गए है, पूर्व सरपंच एवं वर्तमान जनपद पंचायत अध्यक्ष रणजीतसिंह ठाकुर के द्वारा सभी कार्यो को नियम विरुद्ध तरीके से सचिव शमशेर खान से कराया गया है, यह सब कथन सुनने में ठीक भी लगे पर क्या सचिव शमशेर खान पूर्व सरपंच रणजीतसिंह ठाकुर से इतने डरते है की उनकी किसी आज्ञा की अवहेलना करने की हिम्मत नहीं हुई, जबकि सभी ग्राम पंचायतो में सचिव शासकीय कर्मचारी होता है,और वह सरपंच द्वारा किये ऐसे कार्य जो नियम विरुद्ध हो उन्हें अपनी सम्बंधित जनपद को सूचित कर उसकी अवहेलना कर सकता है,सबसे सोचने लायक बात यह है मान लिया जाये की पूर्व सरपंच रणजीतसिंह ठाकुर ने पट्टा जारी किया पर पट्टा एक बार जारी किया होगा और वर्तमान में पूर्व सरपंच रणजीतसिंह ठाकुर कार्य एजेंसी नहीं है फिर भी उनके नाम और सील का उपयोग कर कैसे सचिव शमशेर खान द्वारा दो बार राजनारायण ठाकुर को पट्टा कर दिया गया, वर्तमान में खैरा पंचायत की कार्य एजेंसी सरपंच नीतू ठाकुर है ,पर सचिव के कथानुसार आज भी कार्य एजेंसी पूर्व सरपंच रणजीतसिंह ठाकुर है,जो मामले में जाँच का विषय है,क्योकि पूर्व सरपंच रणजीतसिंह ठाकुर ने फर्जी पट्टे मामले में अपनी चुप्पी तोड़ते हुए पट्टा नियम विरुद्ध जारी करने की बात को लेकर साफ मना कर दिया था, की अवासीय भूमि का विक्रय नहीं किया जा सकता न ही उसका हस्तांतरण किसी अपात्र व्यक्ति को किया जा सकता है, पूर्व सरपंच रणजीतसिंह ठाकुर के कथानुसार उनके द्वारा कोई भी नियम विरुद्ध कार्य उनकी कार्यप्रणाली में नहीं किया गया है इस मामले में सचिव शमशेर खान और सूदखोर राजनरायण ठाकुर इस फर्जीवाड़ा मामले में दोषी है,जिन पर प्रशासनिक कार्यवाही कर सचिव को उसके पद से बर्खास्त करना विधि न्यायसंगत है |

उद्घोष समय न्यूज़
सिवनी जिला व्यूरो – कैलाश लाहोरी

यह भी पढ़ें:   पेंच नेशनल पार्क के बफर क्षेत्र के समीप पेंच नदी में मिला अज्ञात शव

Leave A Reply

Your email address will not be published.