जर्मनी में हाल ही में संपन्न G7 बैठक में प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने भारत को लेकर दिया बेहद ‘ सशक्त संदेश’ :

0

बैठक में प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने भारत को लेकर बेहद ‘ सशक्त संदेश’ दिया और दुनिया में बढ़ रहे भारत के योगदान से अवगत करवाया।

इस दौरान प्रधानमंत्री मोदी ने बातचीत और शांति के माध्यम से यूक्रेन संघर्ष को शांतिपूर्ण तरीके से हल करने की आवश्यकता को रेखांकित किया और भारत को वैश्विक समाधान प्रदाता के रूप में पेश किया। वैश्विक नेताओं से मुलाकात दौरान उन्होंने भोजन, स्वास्थ्य और ऊर्जा संकट के रूप में उन्होंने G7 सहित दुनिया के सबसे अमीर देशों को एक स्पष्ट संदेश दिया। विशेष रूप से भू-राजनीतिक तनाव के बीच अर्जेंटीना, दक्षिण अफ्रीका और इंडोनेशिया के नेताओं के साथ पीएम मोदी की बैठकें दक्षिण-दक्षिण सहयोग को मजबूत करने का एक प्रयास था।

प्रधानमंत्री की लगातार दो यूरोप यात्राओं में एक अंतर्निहित संदेश था कि भारत एक बहुध्रुवीय व्यवस्था बन रही है। अपनी कूटनीतिक दो दिवसीय G7 यात्रा दौरान प्रधानमंत्री मोदी ने जहां विश्व नेताओं अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन, फ्रांस के इमैनुएल मैक्रॉन और कनाडा के जस्टिन ट्रूडो शामिल से मुलाकात कर अपने विचार सांझा किए वहीं उन्होंने दक्षिण अफ्रीका के राष्ट्रपति सिरिल रामफोसा, जर्मनी के चांसलर ओलाफ स्कोल्ज़ और इंडोनेशिया के राष्ट्रपति जोको विडोडो के साथ लंबी बैठकें कीं।
भारत में प्रधानमंत्री कार्यालय के आधिकारिक ट्विटर हैंडल ने ट्वीट किया, “पीएम @narendramodi और राष्ट्रपति @jokowi ने एक बेहद सार्थक व महत्वपूर्ण बैठक की। उनकी बातचीत भारत और इंडोनेशिया के बीच व्यापक रणनीतिक साझेदारी को मजबूती देगी।

दोनों नेताओं ने व्यापार संबंधों व कनेक्टिविटी को बढ़ावा देने के तरीकों पर भी चर्चा की ।” उन्होंने यूरोपीय संघ आयोग के अध्यक्ष उर्सुला वॉन डेर लेयेन से भी मुलाकात की।G7 शिखर सम्मेलन के बाद, पीएम मोदी ने ट्वीट किया कि उन्होंने यूरोपीय राष्ट्र की ” फलदायी यात्रा” की। उन्होंने ट्वीट किया, “मैं जर्मनी के लोगों, @Bundeskanzler Scholz और जर्मन सरकार को पूरी यात्रा के दौरान उनके आतिथ्य के लिए धन्यवाद देता हूं। मुझे विश्वास है कि आने वाले समय में भारत-जर्मनी की दोस्ती नई ऊंचाइयों को छुएगी।”

यह भी पढ़ें:   कमर खान पत्रकार का साथियों ने जन्म मनाया

उन्होंने लिखा “मैंने @G& शिखर सम्मेलन में भाग लिया, कई विश्व नेताओं के साथ बातचीत की और म्यूनिख में एक यादगार सामुदायिक कार्यक्रम में भाग लिया। इस दौरान हमने वैश्विक कल्याण और समृद्धि को आगे बढ़ाने के उद्देश्य से कई मुद्दों पर चर्चा की।” मोदी ने एक ट्वीट में कहा। उन्होंने जर्मन भाषा में भी इसी तरह के संदेश पोस्ट किए।एक मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, पीएम मोदी ने समिट से इतर यूरोपीय आयोग की अध्यक्ष उर्सुला वॉन डेर लेयेन के साथ बातचीत की। बातचीत के दौरान दोनों नेताओं ने व्यापार, निवेश, प्रौद्योगिकी और जलवायु कार्रवाई में भारत-यूरोपीय संघ के सहयोग की समीक्षा की।

Leave A Reply

Your email address will not be published.