अंतर्राष्ट्रीय कांफ्रेंस में वैज्ञानिकों का बायोटेक एडवांसेज पर गहन मंथन।

0


सतना। एकेएस विश्वविद्यालय के बायोटेक्नोलॉजी विभाग द्वारा आयोजित अंतर्राष्ट्रीय कांफ्रेंस में दूसरे दिन चालीस से अधिक विश्व प्रसिद्ध वैज्ञानिकों ने जैवप्रद्योगिकी के नवीनतम क्षेत्रों के रिसर्च साझा किया । एकेएस विश्वविद्यालय के सभी सभागारों में सेशन का आयोजन हुआ जिसमें विश्व स्तर पर बेयोंग हूं जॉन ,साउथ कोरिया, रेनू वाधवा जापान, रूई ओलिवेरा,पुर्तगाल, प्रो.बी.ए.चोपड़े ,भारत, हेलेना खातून,बांग्लादेश, योशिरो ओहेमिया,जापान, जोसेफ मरूसेख ,चेक रिपब्लिक, जॉस लुइस मैक्सिको, राजेश सैनी यूनाइटेड स्टेट्स ऑफ अमेरिका ने व्याख्यान में सेशन चेयर किया। । कई रिसर्च स्कॉलर ने इस कांफ्रेंस में शॉर्ट ओरल रैपिड प्रेजेंटेशन एवम पोस्टर प्रेजेंटेशन में हिस्सा लिया और अपने रिसर्च वर्क की प्रस्तुति की। सभी सभागारों में अनेक सेशन जैसे अनायरोबिक डाइजेशन, फूड प्रोसेसिंग,प्लांट माइक्रोब इंटरेक्शन,अलगल बायोरेफाइनरी जैसे विभिन्न विषयों को सेशन टाइटल बनाया गया।अंतराष्ट्रीय कांफ्रेंस में वर्कशॉप ऑन रीसेंट एडवांसेज इन माइक्रोबियल डिग्रेडेशन टेक्नोलॉजीज, ए.के. गोयल, मनीष कुमार मेघवंशी, डीआरडीओ जिन्होंने भारतीय रेल में लगने वाले बायोटॉयलेट की कार्यशैली और उसकी तकनीक सभी से साझा की। कांफ्रेंस के कन्वेनर प्रो.कमलेश चौरे डिपार्टमेंट ऑफ बायोटेक्नोलॉजी,
हैं।कांफ्रेंस चेयर प्रो. अशोक पांडे, प्रो. शिवेश प्रताप सिंह को –कन्वेनर, प्रोफेसर जी.पी. रिचारिया डीन, फैकल्टी ऑफ़ लाइफ साइंस एंड टेक्नोलॉजी, टेक्निकल एवम ऑर्गनाइजिंग टीम मेंबर्स प्रो.अश्विनी वाउ, प्रो. दीपक मिश्रा, कीर्ति समदरिया, पारस कोसे, अर्पित श्रीवास्तव, डा.कमलेश सोनी,धीरेंद्र मिश्रा, शैली मिश्रा,डा. मोनिका सोनी, विवेक अग्निहोत्री,पीयूष कांत राय,प्रिया द्विवेदी, कीर्ति सिंह, अभिषेक सिंह,भूपेंद्र सिंह,शीलेंद्र उपाध्याय, वीरेंद्र कुमार पांडेय ने कांफ्रेंस को सफल बनाने में अपनी भूमिका निभाई ।

यह भी पढ़ें:   हिंदुत्व का चिंतन ही विश्व को शांति प्रदान करेगा :दीपक बिस्पुते

Leave A Reply

Your email address will not be published.