दीनदयाल आईटीआई, आरोग्यधाम के रसशाला एवं जन शिक्षण संस्थान में धूमधाम से मनाई गई भगवान विश्वकर्मा जयंती

0



दीनदयाल शोध संस्थान के कर्मशाला एवं प्रयोगशालाओं में मशीनों, उपकरणों की हुई पूजा
जन शिक्षण संस्थान एवं आईटीआई में मनाया गया कौशल दीक्षांत समारोह

चित्रकूट/ आदि शिल्पी भगवान विश्वकर्मा की जयंती रविवार को श्रद्धा, भक्ति और हर्षोल्लास के वातावरण में धूमधाम से मनाई गई। दीनदयाल शोध संस्थान के प्रकल्प उद्यमिता विद्यापीठ, दीनदयाल औद्योगिक प्रशिक्षण केंद्र एवं आरोग्यधाम परिसर में स्थापित रसशाला तथा जन शिक्षण संस्थान चित्रकूट में भगवान विश्वकर्मा जयंती मनाई गई। इस दौरान दीनदयाल शोध संस्थान के सभी कर्मशाला एवं प्रयोगशालाओं में मशीनों, उपकरणों की पूजा की गई।

इस मौके पर हवन पूजन और आरती के बाद प्रसाद वितरण किया गया। दीनदयाल आईटीआई के प्राचार्य श्री संजय दुबे बताते हैं कि भगवान विश्वकर्मा सृष्टि के निर्माणकर्ता हैं। अत: सभी उत्पादन सह प्रशिक्षण इकाइयों में एवं तकनीकी संस्थाओं में प्रतिवर्ष जयंती पर उपकरणों का पूजन कर कार्यक्रम किए जाते हैं। यह कार्यक्रम उत्साह से मनाया जाता है। इस दौरान कर्मशाला और प्रयोगशाला में उपकरणों की साफ सफाई एवं सजावट की जाती है। इस अवसर पर दीनदयाल शोध संस्थान के कोषाध्यक्ष श्री वसंत पंडित भी पूजा में सम्मिलित होकर भगवान विश्वकर्मा की आरती किए। पूजन कार्यक्रम में उप महाप्रबंधक डॉ अनिल जायसवाल, डॉ अशोक पांडेय, इंजी. राजेश त्रिपाठी, श्री मनोज सैनी, डॉ मनोज त्रिपाठी, श्री कुलदीप वघेल, अमित श्रीवास्तव सहित संस्थान के सभी प्रकल्प प्रभारियों व प्रशिक्षण शालाओं से जुड़े कार्यकर्ताओं की उपस्थिति रही।


*दीक्षांत कार्यक्रम में छात्रों एवं प्रशिक्षणार्थियों को दिया गया प्रमाण पत्र*


वहीं दूसरे अन्य कार्यक्रम में दीनदयाल औद्योगिक प्रशिक्षण केंद्र एवं जन शिक्षण संस्थान चित्रकूट में विश्वकर्मा जयंती पर दीक्षांत समारोह कार्यक्रम मनाया गया। दीनदयाल आईटीआई के दीक्षांत समारोह में जगद्गुरु रामभद्राचार्य दिव्यांग राज्य विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो शिशिर पांडे एवं दीनदयाल शोध संस्थान के कोषाध्यक्ष श्री वसंत पंडित मुख्य रूप से उपस्थित रहे।

दीक्षांत समारोह कार्यक्रम में मुख्य वक्ता के रूप कुलपति पांडे ने छात्रों की तकनीकी शिक्षा को बेहतर बताया और कहां की नाना जी द्वारा स्थापित दीनदयाल औद्योगिक प्रशिक्षण केंद्र में बहुत कुछ सीखने को मिलता है, माननीय प्रधानमंत्री जी का यही सपना है कि तकनीकी ज्ञान को आगे बढ़ाया जाए।
इस मौके पर डीआरआई के कोषाध्यक्ष श्री वसंत पंडित द्वारा छात्रों को तकनीकी ज्ञान में आगे बढ़कर काम करने पर जोर दिया गया।

चित्रकूट के गढ़ीवा स्थित परिसर में कौशल विकास एवं उद्यमशीलता मंत्रालय भारत सरकार द्वारा वित्त पोषित तथा दीनदयाल शोध संस्थान द्वारा संचालित जन शिक्षण संस्थान चित्रकूट द्वारा कौशल दीक्षांत समारोह के अवसर पर प्रधानमंत्री विश्वकर्मा योजना की जानकारी प्रतिभागियों को प्रदान की गई।
कार्यक्रम का शुभारंभ मुख्य अतिथि श्री पंकज अग्रवाल चेयरमैन जिला सहकारी बैंक बाँदा- चित्रकूट एवं मण्डल उपाध्यक्ष उ0 प्र0 उद्योग व्यापार मंडल समाजसेविका प्रतिभा जायसवाल, कृष्णकुमार शुक्ला तथा जन शिक्षण संस्थान के निदेशक अनिल कुमार सिंह द्वारा माल्यार्पण एवं पुष्पार्चन के साथ किया गया।

जेएसएस के निदेशक अनिल कुमार सिंह द्वारा संस्थान द्वारा चलाए जा रही विभिन्न रोजगार परख प्रशिक्षण कार्यक्रम एवं अन्य गतिविधियों की विस्तार पूर्वक जानकारी प्रदान की गई, साथ ही प्रधानमंत्री विश्वकर्म योजना के विषय में बताया गया कि पारंपरिक शिल्पकारों एवं कामगारों को आर्थिक सुधार प्रदान कर उनके कौशल में वृद्धि करना है।

इस अवसर पर प्रतिभा जायसवाल द्वारा बताया गया कि महिलाएं आज सशक्त एवं सफल व सजग हो रही हैं तथा सभी क्षेत्रों में निरंतर प्रगति कर रही हैं। हम सभी का यह दायित्व है कि उन्हें सदैव सहयोगी के रूप में आगे बढ़ाने में मदद करें।

अध्यक्षीय उद्बोधन करते हुए पंकज अग्रवाल ने कहा कि सरकार का उद्देश्य इस योजना के माध्यम से पारंपरिक कौशल वाले लोगों को सहयोग प्रदान करना तथा उन्हें नई तकनीकी प्रदान करने के साथ-साथ उनके विपणन एवं वितरण में सहयोग प्रदान करना है जिससे उनकी बाजार में सुलभता एवं वित्तीय संभावनाओं में सुधार हो सके और समाज व राष्ट्र की मुख्यधारा से जुड़कर अपने को सशक्त महसूस कर सकें।

कार्यक्रम का संचालन बनारसीलाल पाण्डेय, धन्यवाद ज्ञापन प्रभाकर मिश्रा के द्वारा किया गया। कार्यक्रम में अजय पाण्डेय, सुघर सिंह, गणेश पटेल सहित 68 प्रतिभागी उपस्थित रहे। प्रतिभागियों को कौशल प्रमाण पत्र वितरण के साथ साथ अतिथियों द्वारा परिषर में बृक्षारोपण भी किया गया।

प्रेस रिपोर्टर सुरेश कुमार

यह भी पढ़ें:   सीईओ को हटाने व कार्यवाही करने को लेकर जनपद अध्यक्ष व सदस्यों ने खोला मोर्चा

Leave A Reply

Your email address will not be published.