राष्ट्र सेवा एवं व्यक्तित्व विकास के लिए नई ऊर्जा का संचार करती है राष्ट्रीय सेवा योजना।

0



सतना। एकेएस विश्वविद्यालय, सतना में राष्ट्रीय सेवा योजना के नव प्रवेशित एवं सीनियर स्वयंसेवकों के मार्गदर्शन एवं व्यक्तित्व विकास हेतु उन्मुखीकरण कार्यक्रम का भव्य आयोजन किया गया। इस कार्यक्रम में अतिथि एवं विषय विशेषज्ञ के रूप में श्री राहुल सिंह परिहार,राज्य प्रशिक्षक, राष्ट्रीय सेवा योजना, डॉ अभिमन्यु प्रसाद समन्वयक, राष्ट्रीय सेवा योजना, अवधेश प्रताप सिंह विश्वविद्यालय रीवा प्रकोष्ठ एवं डाॅ. क्रांति मिश्रा, जिला समन्वयक, राष्ट्रीय सेवा योजना ,जिला सतना उपस्थित हुए । विश्वविद्यालय की ओर से डॉ हर्षवर्धन, प्रति कुलपति विकास प्रो. जी. सी. मिश्रा, अधिष्ठाता छात्र कल्याण एवं विभिन्न संकायों के डीन एवं डायरेक्टर्स उपस्थित हुए। कार्यक्रम का शुभारंभ मां वीणा पाणि की प्रतिमा पर माल्यार्पण एवं दीप प्रज्वलन से हुआ।

कुल गीत एवं राष्ट्रीय सेवा योजना लक्ष्य गीत का गायन किया गया ।कार्यक्रम में डॉ. दीपक मिश्रा कार्यक्रम अधिकारी राष्ट्रीय सेवा योजना ने अतिथियों का स्वागत किया । डॉ. हर्षवर्धन ने विश्वविद्यालय में आयोजित की जाने वाली राष्ट्रीय सेवा योजना की विभिन्न गतिविधियों एवं उपलब्धियां से अतिथियों को अवगत कराया । डॉ. क्रांति मिश्रा ने स्वयंसेवकों को नित्य नई ऊर्जा के साथ समाज सेवा करने का संदेश दिया। डॉ अभिमन्यु प्रसाद ने स्वयंसेवकों को ज्यादा से ज्यादा संख्या में राष्ट्रीय सेवा योजना में जुड़ने का एवं समर्पण की भावना के साथ कार्य करने का आह्वान करते हुए राष्ट्रीय सेवा योजना के नियमों का अपने जीवन में आत्मसात करने का संदेश दिया। राहुल सिंह परिहार ने अपने जीवन के विभिन्न अनुभवों के विषय में विस्तृत चर्चा करते हुए यह भी बताया राष्ट्रीय सेवा योजना एक ऐसी भावना है जो युवाओं में एक नई ऊर्जा का संचार करने का कार्य करती है। योजना के स्वयंसेवक अपने छात्र जीवन को बेहतर बनाते हुए राष्ट्रीय सेवा योजना के मूल्यों को पालन करते हुए उच्च प्रशासनिक पदों पर आसीन होकर देश सेवा एवं राष्ट्र सेवा में अपना जीवन समर्पित करते हैं। कार्यक्रम में छात्र-छात्राओं के द्वारा एनएसएस की गतिविधियों पर आधारित वीडियो का भी प्रदर्शन किया गया एवं सांस्कृतिक कार्यक्रमों की मंत्र मुग्ध कर देने वाली प्रस्तुतियां भी दी गई। कार्यक्रम में अतिथियों का आभार प्रदर्शन कार्यक्रम समन्वयक राष्ट्रीय सेवा योजना डॉ.महेंद्र कुमार तिवारी ने किया। कार्यक्रम का संचालन स्वयंसेवक शिवांशु एवं अंचल ने किया ‌। कार्यक्रम के सफल आयोजन हेतु विश्वविद्यालय प्रबंधन ने हार्दिक बधाई दी है।

यह भी पढ़ें:   अंतरराष्ट्रीय प्रकाशक ने पब्लिश की इमर्जिंग ट्रेंड्स इन एग्रीकल्चर साइंसेज नामक पुस्तक ।

Leave A Reply

Your email address will not be published.