प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज वित्त मंत्रालय और कॉरपोरेट कार्य मंत्रालय की ओर से आयोजित कार्यक्रम में ‘Iconic Week’ का किया शुभारंभ :

0

पीएम मोदी कार्यक्रम में एक, दो, पांच, 10 और 20 रुपये के नए सिक्के भी जारी किए.आजादी के अमृत महोत्सव के तहत आयोजित इस कार्यक्रम में जन समर्थ पोर्टल भी लॉन्च किया।

पीएम मोदी ने कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि दुनिया के एक बड़े हिस्से को भारत से समस्याओं के समाधान की अपेक्षा है. भारत अगर मिलकर कुछ करने की ठान ले तो वह दुनिया के लिए उम्मीद बन जाता है. उन्होंने कहा कि ये इसलिए संभव हो पा रहा है क्योंकि हमने पिछले आठ साल में एक सामान्य भारतीय के विवेक पर भरोसा किया. हमने जनता को विकास में बुद्धिमान प्रतिभागी के तौर पर प्रोत्साहित किया.

पीएम मोदी ने कहा कि सुधार के साथ ही हमने सरलीकरण पर फोकस किया. केंद्र और राज्य के अनेक टैक्सों के जाल की जगह बस एक टैक्स GST लागू किया. उन्होंने कहा कि इसका नतीजा देश देख रहा है. हर महीने GST कलेक्शन एक लाख करोड़ रुपये के पार जाना सामान्य बात हो गई है. पीएम मोदी ने आगे कहा कि पिछले आठ साल में देश ने जो सुधार किए, उनमें इस बात का खास ध्यान रखा गया कि युवाओं को अपनी सामर्थ्य दिखाने का पूरा मौका मिले. हमारे युवा अपनी मनचाही कंपनी आसानी से खोल पाएं और उन्हें आसानी से चला पाएं.

खुद जनता तक पहुंचें, ये प्राथमिकता

उन्होंने ये भी कहा कि 1500 से ज्यादा कानून समाप्त कर, कंपनीज एक्ट के कई प्रावधान डीक्रिमिनिलाइज करके हमने ये सुनिश्चित किया कि भारत की कंपनियां न सिर्फ आगे बढ़ें, बल्कि नई ऊंचाई प्राप्त करें. पीएम ने कहा कि ये जनता ही है जिसने अपनी सेवा के लिए हमें यहां भेजा है. इसलिए हमारी ये प्राथमिकता है कि खुद जनता तक पहुंचें. हर पात्र व्यक्ति तक पहुंचना, उसे पूरा लाभ पहुंचाना हमारा दायित्व है.

यह भी पढ़ें:   केंद्र सरकार ने एनडीए की राष्ट्रपति पद की उम्मीदवार द्रौपदी मुर्मू को प्रदान किया'जेड प्लस'श्रेणी का सुरक्षा कवच:

पीएम मोदी ने कहा कि अलग-अलग मंत्रालयों की अलग-अलग वेबसाइट के चक्कर लगाने से बेहतर है कि भारत सरकार के एक पोर्टल तक पहुंचें और समस्या का समाधान हो जाए. उन्होंने कहा कि इसी लक्ष्य के साथ आज ‘Jan Samarth Portal‘ लांच किया गया है. पीएम ने कहा कि 21वीं सदी का भारत People-Centric governance अप्रोच के साथ आगे बढ़ा है. उन्होंने आजादी आजादी के बाद देश की 75 साल लंबी विकास यात्रा का भी जिक्र किया और आजादी की लड़ाई के नायकों को भी याद किया.

प्रयास बेहतर करने की दिशा में अच्छा कदम

पीएम मोदी ने कहा कि ये Iconic Week सभी के योगदान को याद करने का अच्छा माध्यम है. उन्होंने कहा कि अतीत को ध्यान में रख अपने प्रयास बेहतर करने की दिशा में भी ये अच्छा कदम है. पीएम मोदी ने कहा कि आजादी के लंबे संघर्ष में जिसने भी हिस्सा लिया, उसने इस आंदोलन में एक अलग डाइमेंशन जोड़ा और उसकी ऊर्जा बढ़ाई. किसी ने सत्याग्रह का रास्ता अपनाया तो किसी ने अस्त्र-शस्त्र का रास्ता चुना.

पीएम मोदी ने कहा कि हर किसी ने आजादी की लड़ाई में कुछ ना कुछ योगदान दिया, आजादी की अलख जगाने में मदद की. उन्होंने कहा कि आज जब हम आजादी के 75 साल पूरे होने का पर्व मना रहे हैं तो प्रत्येक देशवासी का कर्तव्य है कि वो अपने-अपने स्तर पर, अपना कोई विशिष्ट योगदान राष्ट्र के विकास में जरूर दे. पीएम मोदी ने कहा कि आजादी का ये अमृत महोत्सव केवल 75 साल का उत्सव मात्र नहीं है. पीएम मोदी ने कहा कि ये आजादी के नायकों ने आजाद भारत के लिए जो सपने देखे थे, उन सपनों को पूरा करने, उन सपनों में नया सामर्थ्य भरने और नए संकल्पों को लेकर आगे बढ़ने का भी पल है.

यह भी पढ़ें:   कलाकारांचा सन्मान करण्यासाठी स्नेहा इव्हेंट अँड मॅनेजमेंट घेऊन येत आहेत "महाराष्ट्र ड्रीम अचिव्हर अवॉर्ड".

अमृतकाल के लक्ष्य याद दिलाएंगे ये सिक्के

उन्होंने कहा कि आज यहां रुपये की गौरवशाली यात्रा को भी दिखाया गया. इस सफर से परिचित कराने वाली डिजिटल प्रदर्शनी भी शुरू हुई और आजादी के अमृत महोत्सव के लिए समर्पित नए सिक्के भी जारी हुए. ये नए सिक्के देश के लोगों को निरंतर अमृतकाल के लक्ष्य याद दिलाएंगे और उन्हें राष्ट्र के विकास में योगदान के लिए प्रेरित करेंगे.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि देश की आधी आबादी देश के विकास के विमर्श से, फॉर्मल सिस्टम से वंचित थी. हमने उसका इनक्लूजन मिशन मोड में किया. फाइनेंसियल इनक्लूजन का इतना बड़ा काम, इतने कम समय में दुनिया में कहीं नहीं हुआ. उन्होंने कहा कि स्वच्छ भारत अभियान ने गरीब को सम्मान से जीने का अवसर दिया. पक्के घर, बिजली, गैस, पानी, मुफ्त इलाज जैसी सुविधाओं ने गरीब की गरिमा बढ़ाई, सुविधा बढ़ाई. पीएम मोदी ने कहा कि कोरोना काल में मुफ्त राशन की योजना ने 80 करोड़ से अधिक देशवासियों को भूख की आशंका से मुक्ति दिलाई. पिछले आठ साल में हमने अलग-अलग आयाम पर काम किया है.

बढ़ी जनभागीदारी से बढ़ी विकास की गति

उन्होंने कहा कि इस दौरान देश में जो जनभागीदारी बढ़ी, उसने देश के विकास को गति दी है. देश के गरीब से गरीब नागरिक को सशक्त किया है. पीएम मोदी ने वित्त मंत्रालय और कॉरपोरेट मंत्रालय की तारीफ की और लॉन्च किए गए जन समर्थ पोस्टल की खूबियों की भी चर्चा की. उन्होंने कहा कि देश के आम जन के जीवन को आसान बनाना हो या देश की अर्थव्यवस्था को सशक्त करना हो, बीते 75 साल में अनेक साथियों ने इसमें बहुत योगदान दिया है. आप सभी इस विरासत का हिस्सा हैं.

यह भी पढ़ें:   अग्निपथ भर्ती योजना के तहत भारतीय वायु सेना में भर्ती होने के लिए युवाओं का दिखने लगा क्रेज :

पीएम मोदी ने कहा कि देश के लोगों में अभाव से बाहर निकलकर सपने देखने और उन्हें साकार करने का नया हौसला हमें देखने को मिला. पीएम मोदी से पहले कार्यक्रम को संबोधित करते हुए वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कोरोना काल की चुनौतियों की चर्चा की. वित्त मंत्री ने कोरोना काल के दौरान सरकार की ओर से उठाए गए कदमों का भी जिक्र किया.

Leave A Reply

Your email address will not be published.