विश्व के16 देशों के 100 से ज्यादा वैज्ञानिकों के साथ एकेएसयू में इंटरनेशनल कॉन्फ्रेंस का गौरवपूर्ण शुभारंभ।

0

अंतरराष्ट्रीय और राष्ट्रीय विषय विशेषज्ञों का एडवांसेस एंड इन्नोवेशंस इन बायोटेक्नोलॉजी फॉर सस्टेनेबल बायो रिसोर्सेस एंड बायो इकोनामी विषय पर विमर्श प्रारंभ। सतना। एकेएस विश्वविद्यालय सतना के आयोजकतत्व में सेकंड इंटरनेशनल कांफ्रेंस की शुरुआत 22 नवंबर 2023 को किया गया।इसमें 16 देशों के 100 से ज्यादा अतिथियों के साथ 120 संस्थानों के 600 प्रतिभागी इंटरनेशनल कॉन्फ्रेंस के गौरवपूर्ण शुभारंभ के शाक्षी बने। अंतरराष्ट्रीय विषय सम्मत एडवांसेस एंड इन्नोवेशंस इन बायोटेक्नोलॉजी फॉर सस्टेनेबल बायो रिसोर्सेस एंड बायो इकोनामी विषय पर विभागाध्यक्ष और प्रोग्राम कन्वेनर डिपार्टमेंटआफ बायोटेक्नोलॉजी डॉ.कमलेश चौरे ने एड्रेस करते हुए बताया की आयोजन में बायोटेक रिसर्च सोसायटी इंडिया, विज्ञान भारती,द नेशनल एकेडमी ऑफ़ साइंसेज इंडिया, भोपाल चैप्टर, सेंटर फॉर एनर्जी एंड एनवायरमेंटल सस्टेनेबिलिटी इंडिया, सोसाइटी ऑफ़ लाइफ साइंसेज इंडिया,इंटरनेशनल बायो प्रोसेसिंग संगठन और माइक्रोबायोलॉजिस्ट समिति इंडिया के एसोसिएशन में आयोजित हो रही है।

उन्होंने कार्यक्रम के आयोजन के विविध पहलुओं पर विस्तार से चर्चा की।इस अंतरराष्ट्रीय आयोजन में प्रो.अशोक पांडे,सीएसएस,आईआईटीआर लखनऊ, इंडिया, प्रो.समीर खनाल, जनरल सेक्रेटरी आईबीए,जनरल यूनिवर्सिटी ऑफ हवाई,होनोलूलू यूएसए,प्रो.मोहम्मद तेहरजादेह, यूनिवर्सिटी ऑफ़ बोरास, स्वीडन,डॉक्टर रेणु बढ़वा, एआई एसटी,जापान,प्रो. क्रिस्टोबॉल एन.एग्यूलर, मैक्सिको,मुख्य अतिथि डॉ.भास्कर नारायण,डायरेक्टर,सीएसआईआर,आईआईटीआर,लखनऊ ने एडवांस एंड इनोवेशन पर की नोट व्याख्यान दिया उन्होंने कॉस्ट टू डेयर फॉर बेस्ट इनोवेशन पर चर्चा की , प्रो.
सुनीता शर्मा,विज्ञान भारती,,प्रो.बी.ए.चोपडे,प्रो, आर.एस. त्रिपाठी,शिवेश प्रताप सिंह,प्रिंसिपल डिग्री कॉलेज,सतना उपस्थित रहे। विश्वविद्यालय के मंच से विश्वविद्यालय के कुलाधिपति श्री बी.पी. सोनी जी ने अध्यक्षीय उद्बोधन दिया। उन्होंने विश्व सरकार की अवधारणा पर अपने विचार मंच से साझा किया।प्रोचांसलर अनंत कुमार सोनी ने सेकंड इंटरनेशनल कॉन्फ्रेंस को मंच से शुभकामना देते हुए सफलता की कामना की ।

यह भी पढ़ें:   मुंबई की फिजिशियन डा श्वेता चिंदारकर जानकीकुण्ड चिकित्सालय में देंगी निरंतर अपनी सेवाएं

कार्यक्रम के अंत में अतिथियों को मोमेंटो प्रदान किए गए। आभार प्रदर्शन प्रतिकुलपति डॉ. हर्षवर्धन ने दिया। कार्यक्रम का संचालन बायोटेक फैकल्टी माही चौरे ने किया। कार्यक्रम में विभाग के फैकल्टी अश्विनी ए, वाउ,कीर्ति समदरिया,अर्पित श्रीवास्तव,
डॉक्टर दीपक मिश्रा,पारस कोसे,धीरेंद्र मिश्रा,पीयूष कांत राय,विवेक अग्निहोत्री,
शैली मिश्र, कमलेश सोनी की भूमिका सराहनीय रही। शुभारंभ कार्यक्रम के अंत में गीत संगीत कला का एक बहुरंगी कार्यक्रम विश्व के अतिथियों के समक्ष पेश किया गया इस इंद्रधनुषी प्रस्तुति ने सभी का मन मोह लिया।

Leave A Reply

Your email address will not be published.