मरीज महिलाओं को ज्यादा डराओ और ज्यादा कमाओ
यह है डॉक्टर महेंद्र सिंह का फॉर्मूला

0


उद्घोष समय न्यूज़
( संवाददाता- अंकित शर्मा, सतना )

जब डॉक्टर सेवाभाव से इलाज करते हैं तब कहते हैं डॉक्टर इज् सेकंड गॉड | धरती पर इंसान की जान डॉक्टर बचाता है इसीलिए डॉक्टर को दूसरा भगवान मानते है | लेकिन अधिकांश डॉक्टरों ने दौलत कमाने के चक्कर में चिकित्सा के पवित्र पेशे को डर का व्यापार बना लिया है| सतना जिले के ऐसे डॉक्टर में से एक नाम है डॉक्टर महेंद्र सिंह|स्त्रीरोग विशेषज्ञ डॉक्टर महेंद्र सिंह ने चिकित्सा के धंधे के शुरुआत के दिनों में राजेंद्र नगर की 9 नंबर गली में कोठरी नुमा चार कमरों में शारदा नर्सिंग होम शुरू किया था | लेकिन अब शारदा हॉस्पिटल एवं आई वी एस रिसर्च सेंटर के नाम से आलीशान हॉस्पिटल है | शारदा नर्सिंग होम से शारदा हॉस्पिटल के सफर में थोड़े समय में ही महेंद्र सिंह ने मरीजों को चूस चूस कर बेशुमार संपत्ति बनाई | ईमानदारी से इलाज करने में यह संभव नहीं है | ऐसा तभी संभव है जब डॉक्टर इलाज में लाज शर्म छोड़ दे और सारे नियमों को ताक पर रखकर काम करे तो सेवा में पैसा ही पैसा है |

डॉ महेंद्र सिंह, स्त्री रोग विशेषज्ञ

चर्चा में है व जानकार सूत्र बताते हैं कि हॉस्पिटल में सारे प्रतिबंधित काम होते हैं| जैसे कि लिंग परीक्षण पर रोक है लेकिन हॉस्पिटल में परीक्षण करते हैं| नियम कानून ताक पर रखकर शारदा हॉस्पिटल में लड़कियों का गर्भपात कराने की भी खबर है| शासकीय नियम से उपचार, जांच सेवा, सेवा शुल्क, रूम चार्ज आदि का डिस्प्ले मुख्य काउंटर पर अनिवार्य है लेकिन डरे सहमे मरीजों से निर्धारित रेट से ज्यादा पैसा वसूला जाता है| डिस्प्ले में हॉस्पिटल में कार्यरत डॉक्टर की लंबी लिस्ट है | दो डॉक्टर के अलावा अन्य डॉक्टर हॉस्पिटल में नहीं होते| शारदा हॉस्पिटल के अंदर चल रहे सारे गैरकानूनी कामों में दलाली.... शुक्ला करता है|

पुराना शारदा हॉस्पिटल एवं रिसर्च सेंटर सतना

सूत्र यह भी बताते हैं कि डर का व्यापार और महिलाओं के साथ अत्याचार सभी मरीजों के केस में दिखाई पड़ता है लेकिन सहन करना महिलाओं की मजबूरी होती है| ज्यादातर संपन्न घरों की गर्भवती महिलाएं डॉक्टर महेंद्र से इलाज कराती है| साजिश के तहत डराने का एक खेल होता है| डिलीवरी होने के कुछ समय पहले तक महेंद्र सिंह द्वारा जच्चा बच्चा की स्थिति अच्छी बताई जाती है फिर अचानक डिलीवरी में तकनीकी समस्या बताकर ऑपरेशन की सलाह दी जाती है | कई बार जान का खतरा बता देते हैं जिससे मरीज घबराकर ऑपरेशन के लिए तैयार हो जाती है इस तरह डरे हुए मरीज से इलाज के नाम पर जी भर कर रुपया ऐठं लेते हैं |

यहां डॉक्टर महेंद्र सिंह बैठकर मरीजों को देखता था

शारदा हॉस्पिटल कैंपस में ............ शुक्ला का मिलन मेडिकल स्टोर है | मरीजों को इसी स्टोर से दवा लेना अनिवार्य है यहां डॉक्टर ऐसी दवा लिखते हैं जो केवल शुक्ला के मेडिकल स्टोर में मिलती है यह दवाएं बाजार में मिलती ही नहीं है जिससे दवा बिक्री में मरीज को लूट लेते हैं | हॉस्पिटल में चल रहे हैं नियम विरुद्ध कामों में हॉस्पिटल और मरीज के बीच मध्यस्तता.... शुक्ला करता है | दलाली की यह सेटिंग महेंद्र सिंह की है सारा गोरख धंधा पकड़ में ना आए इसलिए शुक्ला को सामने कर रखा है |

वर्तमान शारदा हॉस्पिटल एवं रिसर्च सेंटर सतना की फोटो

यह भी पढ़ें:   एकेएस के बायोटेक्नोलॉजी विभाग के सहायक प्रोफेसर अर्पित श्रीवास्तव बेस्ट मेंटर अवार्ड से सम्मानित।

डॉक्टर महेंद्र सिंह ने सारे हथकंडे अपनाकर करोड़ों आलीशान नर्सिंग होम और अन्य संपत्ति बना तो ली है | यदि डॉ महेंद्र की ईमानदारी से जांच हो तो बेईमानी से कमाई संपत्ति में शासन के लाखों रुपए की टैक्स चोरी भी मिलेगी ?

नए हॉस्पिटल के रिसेप्शन की फोटो

डॉ महेंद्र सिंह के गोरखधंधे के और भी राज हम जल्द ही लेकर आएंगे आपके पास
जुड़े रहिए उद्घोष समय न्यूज़ सतना से संवाददाता अंकित शर्मा के साथ

Leave A Reply

Your email address will not be published.