देश के निवर्तमान राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद का विदाई समारोह संसद भवन में शनिवार शाम को किया जाएगा आयोजित ।

0

संसद भवन के सेंट्रल हॉल में शनिवार शाम 5 बजे होने वाले विदाई समारोह में उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला के साथ ही संसद के दोनों सदनों- लोकसभा और राज्यसभा के सांसद भी मौजूद रहेंगे।

राष्ट्रपति कोविंद के लिए आयोजित किए गए इस विदाई समारोह में लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला उनके लिए विदाई भाषण देंगे और साथ ही संसद सदस्यों की ओर से राष्ट्रपति को एक प्रशस्ति पत्र भी देंगे।

तय कार्यक्रम के अनुसार, राष्ट्रपति कोविंद को एक ‘स्मृति चिन्ह’ तथा संसद सदस्यों द्वारा हस्ताक्षरित एक ‘हस्ताक्षर पुस्तिका’ भी भेंट की जाएगी। संसद सदस्यों के हस्ताक्षर के लिए हस्ताक्षर पुस्तिका 18 जुलाई से लेकर 21 जुलाई तक संसद भवन के सेंट्रल हॉल में ही रखी गई थी, जिस पर दोनों सदनों के सांसदों ने अपने-अपने हस्ताक्षर किए हैं।

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद का कार्यकाल 24 जुलाई को खत्म हो रहा है। राष्ट्रपति पद से रिटायर होने के बाद कोविंद नई दिल्ली स्थित 12 जनपथ के बंगले में शिफ्ट हो जाएंगे। इस बंगले में कई दशकों तक दिवंगत पूर्व केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान रहे थे। उनके निधन के बाद इस बंगले को उनके बेटे और लोकसभा सांसद चिराग पासवान से खाली करा लिया गया था। 12 जनपथ का यही बंगला रामनाथ कोविंद का नया पता होने जा रहा है।

शुक्रवार शाम को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तरफ से राष्ट्रपति कोविंद के लिए विदाई भोज भी आयोजित किया गया था। दिल्ली के अशोका होटल में आयोजित इस विदाई भोज में केंद्र सरकार के मंत्री, सत्तापक्ष और विपक्ष के कई दिग्गज नेताओं के साथ-साथ कई राज्यों के मुख्यमंत्री भी शामिल हुए थे। इस विदाई भोज के लिए खासतौर से देश भर के कई आदिवासी नेताओं और पद्म पुरस्कार विजेताओं को भी आमंत्रित किया गया था।

यह भी पढ़ें:   संविधान की आठवीं अनुसूची में गारो और खासी भाषा को किया जा सकता है शामिल :

Leave A Reply

Your email address will not be published.