जल ही जीवन है और जीवन का जनक भी – डिप्टी डायरेक्टर श्री तोमर

0



नेहरु युवा केन्द्र ने चौपाल लगाकर बताया जल का महत्व

रामकिशन सिंह // मुरैना 28 मार्च 2023/जल ही जीवन है और जीवन का जनक भी। क्योंकि भोजन के बिना तो कुछ दिनों तक जीवित रहा जा सकता है, किन्तु जल के बिना नहीं। जल प्रकृति द्वारा प्रदत्त ऐसा निःशुल्क उपहार है, जिसकी प्रथ्वी के दो तिहाई भाग पर 70 प्रतिशत मौजूदगी के बाद भी मात्र एक प्रतिशत जल ही पीने योग्य है। जल हमारी सांझी सम्पत्ति है, जिस पर न केवल न मानव जाति का बल्कि पृथ्वी पर मौजूद सम्पूर्ण जैव जगत का अधिकार है। इसके उपयोग में न केवल हमें मितव्ययिता बरतनी चाहिए, बल्कि इसके संरक्षण की ठोस पहल भी करनी चाहिए। तभी पृथ्वी पर जीवन कायम रह सकेगा। यह बात नेहरू युवा केन्द्र मुरैना के डिप्टी डायरेक्टर श्री राकेश सिंह तोमर ने अम्बाह विकासखण्ड के ग्राम गरीब का पुरा में सोमवार को आयोजित जल चौपाल में ग्रामीणों से रूबरू होते समय कही।
कार्यक्रम का आयोजन भारत सरकार युवा कार्य एवं खेल मंत्रालय के स्वायत्तशासी संगठन नेहरू युवा केन्द्र मुरैना द्वारा जल शक्ति मिशन केच द रेन अभियान के अंतर्गत किया गया। नेहरू युवा केन्द्र से सम्बद्ध युवा मण्डल और महिला मण्डलों के सदस्यों ने गांव में जन जागरुकता रैली निकाली। जिसमें छात्र-छात्राओं, युवाओं और बड़ी संख्या में ग्रामीणजनों की भी भागीदारी रही। शासकीय प्राथमिक शाला से प्रारंभ हुई यह रैली सम्पूर्ण गांव का भ्रमण कर वापिस विद्यालय पहुंचकर सम्पन्न हुई। जहां ग्वालियर के समृद्धि नाट्य दल के कलाकारों ने नुक्कड़ नाटक के माध्यम से उपस्थित लोगों को जल बचाने के बारे में बताया। कार्यक्रम के दौरान दो दर्जन सक्रिय युवाओं को पुरस्कृत किया गया तथा उपस्थित जनसमूह को जल बचाने की शपथ भी दिलाई गई। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि गांव के ख्याति प्राप्त संत बाबा आशाराम दास जी रहे। इस अवसर पर क्षेत्र के प्रतिष्ठित व्यक्तियों में राजेन्द्र प्रसाद शर्मा, समाजसेवी बेनी सिंह तोमर, शिक्षक राजकुमार तोमर, रासेयो अधिकारी विजय शर्मा, हरिओम शर्मा, तेज सिंह, आनंद शर्मा, मुकेश तोमर, अरुण शर्मा एवं हरिमोहन शर्मा आदि मौजूद थे।

यह भी पढ़ें:   जालौनी की बिटिया सिमरन तोमर ने नीट क्वालीफाईंग कर क्षेत्र को किया गौरवान्वित

Leave A Reply

Your email address will not be published.