पहलवानों के साथ हो रहे अन्याय के विरोध में पहलवानों ने सौंपा ज्ञापन

0

संवाददाता अंकित शर्मा, उद्घोष समय न्यूज़ सतना


सतना। ओलंपिक खेलों में भारत के पहलवानों में कुश्ती कला का प्रदर्शन करके भारत का नाम रोशन किया किंतु उनको अपने देश में ही और कुशती संघ के अध्यक्ष द्वारा ही अत्याचार व शोषण का शिकार बनाया जा रहा है। महिला पहलवानों की आबरू से भी खिलवाड़ किया जा रहा है। कानून भी पीड़ित पहलवानों का साथ देने के बजाय उन पर लाठियां बरसा रहा है यह पहलवानों के साथ बहुत बड़ा अन्याय है। उक्त आशय के विचार व्यक्त करते हुए पहलवान बलराम सेन ने बताया कि दिल्ली में अनशनरत पहलवानों के साथ किए जा रहे अन्याय के विरोध में 17 मई जिला कलेक्टर के माध्यम से सतना के पहलवानों ने राष्ट्रपति व प्रधानमंत्री के नाम ज्ञापन सौंपा जिसमें मांग की गई है की दिल्ली में अनशन कर रहे महिला व पुरुष पहलवानों की मांग तत्काल सुनकर उनके द्वारा लिखाई गई रिपोर्ट पर अविलंब कार्यवाही कराते हुए आरोपी व्यक्ति को गिरफ्तार किया जाए, खेल जगत से जुड़े खिलाड़ियों व पहलवानों की सुरक्षा का कानून बनाया जाए, भारतीय कुश्ती संघ के अध्यक्ष ब्रजभूषण शरण सिंह पर महिला पहलवानों द्वारा यौन शोषण का आरोप लगाया गया है ऐसी स्थिति में बृजभूषण शरण सिंह को भारतीय कुश्ती संघ के अध्यक्ष पद से व संसद की सदस्यता से बाहर किया जाए। नागौद स्थित बजरंग अखाड़ा के उस्ताद पहलवान जलपेंद्र सिंह ने कहा है दिल्ली में अनशनरत पहलवानों की मांग यदि तत्काल नहीं सुनी जाती और आरोपी व्यक्ति को गिरफ्तार नहीं किया जाता तो इस अन्याय की चिंगारी पूरे देश में फैलेगी और प्रत्येक जिले में अनशन प्रदर्शन किया जाएगा। ज्ञापन सौंपने में नागौद से पहलवान जलपेंद्र सिंह राजेंद्र सोनी सतना से संजय गुप्ता प्रिंस गुप्ता मुकेश विक्रम पवन आदि पहलवान मौजूद रहे।

यह भी पढ़ें:   अखिल भारतीय ब्राह्मण समाज का होली मिलन समारोह 19 मार्च को

Leave A Reply

Your email address will not be published.