यश उर्फ मोनू गोल्हानी कर रहा मौत का धंधा

0



लोगों के स्वास्थ्य के साथ खिलवाड़ कर रहा झोलाछाप डॉक्टर

प्रतिनिधि : जमुना अहिरवार



सिवनी । ट्राईबल एरिया से आकर सिवनी जिला मुख्यालय के समीप लोगों के स्वास्थ्य के साथ कर रहा खिलवाड़ झोलाछाप डॉक्टर यश उर्फ मोनू गोल्हानी यूं तो हर कोई चाहता है कि उसका इलाज अच्छे डॉक्टर के समक्ष हो परंतु हमारे क्षेत्र के जन प्रतिनिधि अच्छे डॉक्टर अपने क्षेत्र में उपलब्ध करवाने का प्रयास ही नहीं करते एमबीबीएस बीएचएमएस डीएमएलडी जैसे नॉन डिग्री धारी डॉक्टर को इसका पूरा फायदा मिल रहा है। यश उर्फ मोनू गुल्हनी डॉक्टर अपने आप को पत्रकार बताता है और पत्रकारिता के आड़ में सारे जेनेटिक दवा इलीगल रूप से जनता नगर में लोगों के स्वास्थ्य के साथ खिलवाड़ कर रहा है। स्वास्थ्य जैसे महत्वपूर्ण विभाग में उच्च स्तर पर अंधेरगर्दी के कारण गांव से लेकर शहर तक स्वास्थ्य क्लीनिक धन लाभ अर्जित करने का माध्यम बन गए हैं अनेक क्लिनिक ऐसे हैं जो मध्य प्रदेश स्वास्थ्य विभाग द्वारा निर्धारित नियमों कानून एवं मापदंडों का सरियम उल्लंघन करते हैं जो जिले के स्वास्थ्य चिकित्सा अधिकारियों को विश्वास में लेकर या उपेक्षा कर अवैध रूप से क्लिनिक संचालन करते हैं जबकि मध्य प्रदेश उपचार्य गृह तथा रूजोपचार संबंधित अनुज्ञापन एवं संस्थापक अधिनियम 1973 के अंतर्गत बिना रजिस्ट्रेशन एवं बिना लाइसेंस के ना तो खोल जा सकते हैं और नहीं उनका संचालन किया जा सकता है। इस कड़ी में सिवनी के जनता नगर में कई वर्षों से मोनू उर्फ यश गुल्हनी अपना क्लीनिक संचालित कर रहा है। बिना रजिस्ट्रेशन एवं लाइसेंस के संचालित हो रहा है जिस पर अभी तक किसी सक्षम आधिकारिक नजर नहीं पड़ी यह कोई देखना ही नहीं चाहता जबकि इस प्रकार के अवैध रूप से संचालित क्लीनिक मध्य प्रदेश उपचार्य ग्रह तथा रूजोपचार संबंधित अनुज्ञापन एवं स्थापना अधिनियम 1973 के अंतर्गत सील करते हुए उचित कानूनी कार्रवाई की जानी चाहिए जो कि उक्त अधिनियम की धारा 11 के अंतर्गत अवैध क्लिनिक एवं अपराध की श्रेणी में आता है उक्त अधिनियम के चैप्टर 1 की धारा 2 एए के अंतर्गत क्लिनिक एस्टेब्लिशमेंट के दायरे में आने एवं उक्त अधिनियम के अंतर्गत जारी नियम एवं उप नियमों से शासित होने के कारण समस्त प्रावधान उक्त क्लीनिक एवं उसके संचालक यश उर्फ मोनू गोल्हानी पर बंधन करी होने के बावजूद इन का पालन नहीं किया जा रहा है।

यह भी पढ़ें:   कूचीवाड़ा मोक्ष धाम की भूमि से अन्नीलाल सुवेती का कब्जा हटवाया सरपंच झनकलाल इनवती ने ।

Leave A Reply

Your email address will not be published.